सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

दांतो का पीलापन कैसे हटाए, दांतों को चमकाने के घरेलू उपाय how to get rid of yellow teeth

आजकल लोगों के गलत खानपान और दातों की देखभाल ना करने के कारण उनके दांतो में संक्रमण हो जाता है जिससे उनके दांत पीले हो जाते हैं यदि आप भी जानना चाहते हैं की दांतो का पीलापन कैसे हटाए तो आज हम इसी बारे में बात करेंगे-
Daato ke peelepan ko kaise khatm kare

दांतों के पीलेपन का कारण

(1) इनेमल का घिस जाना

इनेमल दातों की सफेद परत होती है जब भी यह परत घिस जाती है या खराब हो जाती है तो उसके नीचे की परत जिसे डेंटिन(पीले रंग) कहते हैं वह दिखने लगती है। इसका कारण यह है कि हम बहुत ज्यादा जोर लगा कर ब्रश करते हैं।

(2) खाने की चीजें

सेब,आलू, अंडे, चाय,कॉफी और शराब यह सभी खाने-पीने की वस्तुएं आपके मुंह का pH लेवल बिगाड़ कर आपके दांतो को पीला कर देती हैं।

(3) रोग-उपचार

कुछ लोग उपचार करवाने के लिए विकिरण चिकित्सा जैसी स्थितियों से गुजरते हैं तो यह चीजें आपके दांतों में पीलापन ला सकती हैं।

(4) फ्लोराइड का अधिक प्रयोग

फ्लोराइड से भरे टूथपेस्ट को बहुत ज्यादा यूज करने से डेंटल फ्लोरोसिस हो सकता है। फ्लोरोसिस के कारण आपके दांतों में सफेद दाग आ जाते हैं और बाद में वह भूरे और पीले हो जाते हैं।

(5) दवाएं

कई दवाएं जैसे टेटरासाइक्लिन, डॉक्सीक्लाइन आदि दवाएं आपके दांतों में पीलापन ला सकती हैं।

(6) बढ़ती उम्र

बढ़ती उम्र के साथ आपके दांत पीले हो जाते हैं लेकिन जो लोग धूम्रपान करते हैं और शराब पीते हैं उनमें दांतो का पीलापन जल्दी आ जाता है।

(7) एसिडिटी

यदि आपको हमेशा एसिडिटी की प्रॉब्लम रहती है तो भी आपको दांतों के पीलेपन की समस्या हो सकती है।
ये भी पढ़ें- एसिडिटी खत्म करने के 10 घरेलू नुस्खे

दातों को चमकाने के घरेलू घरेलू उपाय

(1) तुलसी

अपने औषधीय गुणों के कारण तुलसी लगभग हर घर में पाई जाती है। यह सर्दी जुकाम ठीक करने के साथ-साथ दांतों की चमक बनाए रखने में भी मददगार है। इसके लिए आप तुलसी की पत्ती को पीसकर इसका पेस्ट बना लें और उसी पेस्ट से डेली ब्रश करें। इससे आपके दांतो का पीलापन खत्म हो जाएगा।

(2)बेकिंग सोडा

दांतों की सफेदी के लिए बेकिंग सोडा अच्छा ऑप्शन है। दांत की चमक के लिए आधा चम्मच बेकिंग सोडा लेकर अपने टूथपेस्ट में मिक्स करें और हफ्ते में दो बार इससे ब्रश जरूर करें।


इसके अतिरिक्त आधा चम्मच बेकिंग सोडा लेकर उसे पानी में मिलाएं और हल्के हल्के हाथों से दांतो पर लगाएं। इससे भी दांतो की ब्राइटनेस बरकरार रहती है।

(3) नमक

नमक में सोडियम के अलावा कई ऐसे तत्व होते हैं जो दांतो को साफ बनाए रखने में हेल्पफुल होते हैं। यह दांत की गंदगी को साफ करता है। इसके लिए आप दिल्ली थोड़ा सा नमक हल्के हाथों से अपने दांतों रगड़े। इससे दांत जल्द ही चमकदार हो जाएंगे।

(4) सेब

सेब न केवल सेहत के लिए अच्छा होता है बल्कि इसकी एसिडिक प्रॉपर्टी दांतों की सफेदी को भी बनाए रखने में हेल्पफुल होती है। इसलिए सेब जरूर खाएं।

(5) संतरा

संतरे के छिलकों में कैल्शियम और विटामिन सी होता है चोमू के बैक्टीरिया से लड़ता है। दांतो के पीलापन हटाने में भी या काफी मददगार होता है। इसके लिए आप संतरे के छिलके से हफ्ते में तीन बार दांतो को जरूर साफ करें। इससे आपके दांतों का पीलापन धीरे-धीरे खत्म होने लगेगा।

(6) स्ट्रॉबेरी

स्ट्रॉबेरी, जिसका नाम सुनते ही मुंह में पानी आ जाता है। यह दांतों के पीलेपन को भी दूर करता है। इसके लिए एक मुट्ठी स्ट्रॉबेरी पीसकर उसका पेस्ट बना लें। हर दूसरे दिन सोने से पहले अपने दांतो पर इसको रगड़े और सुबह प्रतिदिन की तरह ब्रश कर ले। इससे आपके दांतो का पीलापन खत्म हो जाएगा।

(7) नींबू

नींबू भी दांतों के पीलेपन को हटाने में मददगार होता है। इसके लिए नींबू के छिलके को दांतो पर अच्छी तरह से रगड़े और नींबू का रस निकालकर उसमें थोड़ा पानी मिलाकर कुल्ला भी करें। इससे आपके दांतों में पीलेपन की परत खत्म हो जाती है और आपके दांत चमकदार लगने लगते हैं।

(8) केला

केले को पीसकर उसका पेस्ट तैयार कर लें। इस के पेस्ट से दांतो को रोज 1 मिनट तक मले। उसके बाद दांतों को ब्रश कर ले। ऐसा दिल्ली करते रहने से दांतो का पीलापन खत्म हो जाता है।

(9) जैतून का तेल

इसके लिए एक चम्मच जैतून के तेल में सेब के सिरके को मिला लें। इस मिक्सचर में अपने टूथब्रश को डुबाएं और दातों पर हल्का-हल्का लगाएं। यह प्रक्रिया तब तक दोहराएं जब तक मिक्सचर खत्म ना हो जाए। ऐसा करने से दांतों में पीलापन खत्म हो जाता है और मुंह से बदबू आना भी बंद हो जाता है।

यदि आपको यह पोस्ट अच्छी लगी तो अपनी राय कमेंट बॉक्स में जरूर दें और इसी तरह अपना सपोर्ट देते रहे जिससे हम आपको नई नई जानकारियां देते रहेंगे।
धन्यवाद।।।।



टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

गिलोय के औषधीय फायदे- लाभ जानकर हो जाएंगे हैरान।

आजकल अधिकतर सुनने में आ रहा है कि बुखार से छुटकारा पाने के लिए गिलोय का काठा पिलाएँ। आखिर गिलोय कौन सा पौधा है, कहाँँ पाया जाता है, किन किन रोगों में कारगर होता है इसका वर्णन इस लेख के माध्यम से करने का प्रयास किया जा रहा है
गिलोय के अन्य नाम:-                                  गिलोय को गुडूच, अमृतगिलोय , गुडुची आदि नामों से भी जाना जाता है इसे मराठी में गलों कहते हैं। इसका वानस्पतिक नाम टीनोस्पोरा कोर्डीफोलिया तथा यह मनीस्प्रमेसी कुल के अंतर्गत आते है। गिलोय को दिव्य औषधि माना जाता है। गिलोय का प्राकृतिक आवास:-                                                  गिलोय की पत्तियां हृदय के आकार की होती है तथा देखने में पान के पत्ते की तरह लगती है। इसका पौधा लता के रूप में होता है जो कि भारत, म्यामार व श्रीलंका में भरपूर मात्रा में जंगली रूप में उगता हुआ देखा जा सकता है। इसकी पत्तियां 10 से 20 सेंटीमीटर लंबी तथा 8 से 15 सेंटीमीटर चौड़ी होती है। गिलोय की लताएं जंगलों पहाड़ों खेतों की मेड़ों चट्टानों आदि स्थानों पर पाई जाती है। इसकी लताएं वृद्धि के लिए दूसरे वृक्षों को अपना आधार बनाती है।ये …

Hair fall tips: बालों का झड़ना कैसे रोकें। hair fall causes, symptoms and hair fall home remedies

दोस्तों ज्यादातर लोगों में बालों का झड़ना, डैंड्रफ, बालों का सूखापन, पतलापन और वक्त से पहले बालों का सफेद होना बहुत ही ज्यादा आम समस्या है क्योंकि जब भी बालों से जुड़ी हुई कोई भी छोटी बड़ी समस्या होती है तो लोग अक्सर ऐसी चीजों का इस्तेमाल करते हैं जिसे अपने बालों में लगाकर अपनी इस प्रॉब्लम से छुटकारा पा जाएं। लेकिन ऐसा सोचना बिल्कुल गलत है क्योंकि बालों का झड़ना या गिरना एक ऐसी प्रॉब्लम है जिसे बालों में लगाने वाली चीजों का यूज करके सही नहीं किया जा सकता बल्कि इसके साथ-साथ खानपान और अपनी डेली लाइफ में की जाने वाली आदतों में सुधार करना बहुत जरूरी होता है। हम कई ऐसी गलतियां करते हैं जिसके कारण हमारे बाल झड़ने की समस्या उत्पन्न हो जाती है तो आइए जानते हैं वह कौन सी गलतियां या कारण है जिनसे हेयर फॉल होता है-

हेयर फॉल के कारण: hair fall reasons in hindi:- (1) सुबह उठकर नहाना:- सुबह उठकर नहाने में सबसे ज्यादा उपयोग पानी का किया जाता है। यहां समस्या यह है कि जितना ख्याल हम अपने पीने का पानी का रखते हैं उतना ख्याल हम अपने नहाने के पानी का कभी नहीं रखते। यदि हमारे नहाने का पानी ही ठीक ना हो तो…

डायबिटीज से बचने के उपाय। टाइप -1, टाइप-2 मधुमेह के लक्षण, कारण व छुटकारा पाने के घरेलू नुस्खे

वजन घटाने के घरेलू नुस्खे। 15 दिन में पाएं मनचाहा वजनडायबिटीज के मरीज लगातार बढ़ते जा रहे हैं। प्रत्येक दिन इसके मरीजों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। कुछ ताजा आंकड़ों के अनुसार जिस तरह डायबिटीज के मरीजों की संख्या बढ़ रही है उससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि 2025 में इसके मरीजों की संख्या लगभग 13 करोड़ के आसपास हो जाएगी। आखिर क्या वजह है कि डायबिटीज से लोग प्रभावित हो रहे हैं? डायबिटीज क्या है? डायबिटीज के लक्षण क्या है? डायबिटीज से कैसे बचा जा सकता है?डायबिटीज से बचने के घरेलू उपाय ? इन सब के बारेे में हम अपने इस लेख में चर्चा करेंगे तो आइए शुरू करते हैं -

क्या है डायबिटीज:-                                 डायबिटीज एक अवस्था है जिसमें इंसुलिन, जो हमारे शरीर में शुगर कंट्रोल करता है। यदि यह इंसुलिन हमारे शरीर में 50% से कम बनता है तो व्यक्ति की शुगर सामान्य से ऊपर जाने लगती है और इसे ही डायबिटीज कहते हैं। डॉक्टर इसे डायबिटीज मेलाटाइज कहते हैं। इसे मधुमेह और शुगर के नाम से भी जाना जाता है। यह एक ऐसी बीमारी है जो एक बार होने पर जीवन भर साथ निभाती है लेकिन अगर मधुमेह के शुरुआती लक्षणों की …